स्पाक्स के राष्ट्रीय अध्यक्ष उज्जैन में....

उज्जैन। पांच वर्ष पूर्व सोयाबीन के भाव 4000 से ऊपर थे, लेकिन केंद्र में भाजपा की सरकार आने के बाद भाव 3000 से नीचे चले गए। इसके लिए केंद्र की भाजपा सरकार जिम्मेदार है। आज सपाक्स पार्टी के संभागीय सम्मेलन उज्जैन में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. हीरालाल त्रिवेदी ने उक्त आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार विगत 5 वर्ष से पाम ऑयल आयात के लाइसेंस दे रही है, जिससे देश मे पैदा होने वाली फसलों के भाव नहीं बढ़ रहे हैं। केंद्र सरकार ने विदेशों से मक्का, दालें, डालर चना, मटर आदि ऐसे कृषि वस्तुओं के आयात लायसेंस दे रही है जो हिंदुस्तान में प्रचुर मात्रा में किसानों द्वारा पैदा की जाती है परंतु बाहर से आयात होने के कारण किसानों को उनकी फसल का वाजिब मूल्य नहीं मिल पाता है। उन्होंने सम्मेलन को संबोधित करते हुए यह भी कहा कि 2016 के पहले जो एट्रोसिटी एक्ट था, उससे किसी को आपत्ति नहीं थी, परंतु 2016 में मोदी सरकार ने संशोधन कर सामान्य अपराध भी एट्रोसिटी एक्ट में जोड़ दिए, जिससे छोटे-मोटे मामलों में भी आम आदमी की जमानत मुश्किल हो गई और इससे समाज में वर्ग भेद को बढ़ावा मिला। इसके अतिरिक्त उन्होंने जातिगत आरक्षण में आये दोषों पर भी प्रकाश डाला तथा सभी वर्ग के गरीबों के लिए आर्थिक आधार पर आरक्षण दिए जाने की बात कही।
सम्मेलन को प्रदेश उपाध्यक्ष जियालाल शर्मा, सपाक्स युवा मोर्चा के सम्भागीय अध्यक्ष दीपक व्यास, जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर पाटीदार, उपाध्यक्ष एवं मीडिया प्रभारी जेआर माहुरकर (एडवोकेट), सचिव यशवंत भार्गव, शाजापुर के जिला संयोजक श्री सुभाष शर्मा, क्षत्रिय महासभा के अरविंद सिंह चन्देल, औदीच्य समाज के वरिष्ठ उद्धव जोशी, युवा छात्र मोहित त्रिवेदी आदि ने आरक्षण पर अपने विचार व्यक्त किए एवं पदोन्नति में आरक्षण खत्म करने तथा एट्रोसिटी एक्ट समाप्त करने की आवाज उठाई। 
इसके पूर्व आज के सम्मेलन में आये प्रतिनिधियों ने परिचर्चा में अपने विचार व्यक्त का सुझाव दिए, जिनमें हरिओम शर्मा, मोदी अवंतस जैन, हीरालाल आंजना, मुकेश व्यास, विक्रम सिंह, लाखनसिंह, अमित त्रिवेदी, राजेश मेहता, राजेश श्रीवास, राजहंस गायकवाड़, मीना त्रिवेदी, महेश पंवार, धर्मेन्द्र कराड़े आदि प्रमुख थे।
सम्मेलन में कालापीपल, शाजापुर, आगर, घटिया, रतलाम, महिदपुर, तराना, बड़नगर, नागदा एवं उज्जैन तहसील से सैकड़ों की संख्या में प्रतिनिधियों, नागरिकों एवं युवाओं ने भाग लिया। संचालन एवं आभार प्रदर्शन कोषाध्यक्ष हरिसिंह पंडया द्वारा किया गया!


Popular posts
जल की बात जलाशय पर -जल योद्धा उमा शंकर पांडे आँखों में पानी बचेगा तभी पानी बचेगा –टिल्लन रिछारिया
भारतीय चिंतन परम्परा में प्रकृति, भगवान के समतुल्य  हरियाली अमावस्या पर्व पर राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना की अंतरराष्ट्रीय वेब संगोष्ठी में सम्मिलित हुए देश दुनिया के विद्वान और प्रतिभागी
द्रौपदी तत्कालीन नारी अत्याचार की प्रतीक - डाॅ  जोशी
Image
वाल्मीकि समाज अधिकारी-कर्मचारी संघ जिला इकाई में नियुक्तियाँ
दौलतगंज क्षेत्र में दुकान व्यवसाईयो द्वारा कचरा खुले में फेंकने एवं डस्टबिन नहीं रखने पर निरंतर चालानी कार्यवाही की जाए - आयुक्त श्री क्षितिज सिंघल