किसान चौहान को खेती में नवाचार के लिए मिला राष्ट्रीय पुरस्कार

"सफलता की कहानी"
उज्जैन के किसान अश्विनीसिंह चौहान को खेती में नवाचार के लिये राष्ट्रीय पुरस्कार मिला
 
उज्जैन 09 जनवरी। उज्जैन के ग्राम पिपल्याहामा के प्रगतिशील किसान अश्विनीसिंह चौहान को गुरूवार को नईदिल्ली में खेती में नवाचार के लिये ‘फार्मर ऑफ द ईयर’ का राष्ट्रीय पुरस्कार तथा एक लाख रुपये की राशि प्रदान की गई है। यह पुरस्कार धानुका इनोवेटिव एग्रीकल्चर अवार्ड समारोह में दिया गया है। उल्लेखनीय है कि श्री चौहान को यह अवार्ड खाद्यान्न उत्पादन में प्रदेश और देश को आत्मनिर्भर बनाने तथा पोषण और स्वास्थ्य सुरक्षा में अपनी ओर से महत्वपूर्ण योगदान देने पर मिला है। इस अवार्ड के तहत कृषक, कृषि विज्ञान केन्द्र और कृषि विस्तार में योगदान देने वाले व्यक्तियों को लगभग 18 लाख रुपये के विभिन्न 30 श्रेणियों में पुरस्कार दिये गये।
 इस हेतु लगभग 4500 अभ्यर्थियों ने यथोचित श्रेणी में अपना आवेदन भेजा था। इनमें एक स्वतंत्र निर्णायक मण्डल द्वारा श्री चौहान का नाम अन्तिम तीन अभ्यर्थियों की सूची में शामिल किया गया और गुरूवार को उन्हें धानुका इनोवेटिव एग्रीकल्चर अवार्ड प्रदाय किया गया।
 उल्लेखनीय है कि श्री चौहान सोयाबीन, चना, गेहूं और सब्जियों की खेती करते हैं। इन्होंने खेती में अत्याधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल किया है और साथ ही कई नवाचार भी किये हैं।


Popular posts
जल की बात जलाशय पर -जल योद्धा उमा शंकर पांडे आँखों में पानी बचेगा तभी पानी बचेगा –टिल्लन रिछारिया
भारतीय चिंतन परम्परा में प्रकृति, भगवान के समतुल्य  हरियाली अमावस्या पर्व पर राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना की अंतरराष्ट्रीय वेब संगोष्ठी में सम्मिलित हुए देश दुनिया के विद्वान और प्रतिभागी
द्रौपदी तत्कालीन नारी अत्याचार की प्रतीक - डाॅ  जोशी
Image
वाल्मीकि समाज अधिकारी-कर्मचारी संघ जिला इकाई में नियुक्तियाँ
दौलतगंज क्षेत्र में दुकान व्यवसाईयो द्वारा कचरा खुले में फेंकने एवं डस्टबिन नहीं रखने पर निरंतर चालानी कार्यवाही की जाए - आयुक्त श्री क्षितिज सिंघल