गलती एमपीईबी की दंड जनता क्यों भुगते



उज्जैन. एमपीईबी द्वारा विगत मार्च-अप्रैल मई जून महीने में उपभोक्ताओं को बिल वितरण नहीं किया गया. यह विभाग की समस्या थी इसमें उपभोक्ताओं का कोई दोष नहीं था, लेकिन विभाग द्वारा उपभोक्ताओं को तीन महीने का विलंब शुल्क सर चार्ज लगाकर भेज दिए जा रहे हैं जो पूरी तरह से अनुचित है. यह बात भारतीय जनता पार्टी के पूर्व पार्षद जगदीश पांचाल ने कही. श्री पांचाल ने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, कैबिनेट मंत्री एवं उज्जैन दक्षिण विधायक डॉ मोहन यादव, उज्जैन उत्तर विधायक पारस जी जैन को इस संबंध में जानकारी भेजी है. उन्होंने बताया कि अप्रैल महीने से विद्युत विभाग द्वारा  उपभोक्ताओं को बिल नहीं भेजे गए. अब जुलाई माह में 3 माह के बिल के साथ प्रेषित किए गए हैं जिससे उपभोक्ता परेशान है. मध्य प्रदेश शासन के आदेशानुसार बिल के नए टैरिफ अनुसार प्रत्येक माह में किए गए यूनिट का  संयोजन किया जाना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है. 3 महीने के सरचार्ज को बिलो में दर्ज किया गया जिसे समाप्त किया जाना चाहिए. पूर्व पार्षद पांचाल ने कैबिनेट मंत्री डॉ यादव  एवं पारस जी जैन से भी इस संबंध में व्यक्तिगत रूप से चर्चा की और उन्हें इस संबंध में अवगत कराया और मांग की कि शीघ्र ही सरचार्ज माफ किया जाना चाहिए.

Popular posts
जल की बात जलाशय पर -जल योद्धा उमा शंकर पांडे आँखों में पानी बचेगा तभी पानी बचेगा –टिल्लन रिछारिया
भारतीय चिंतन परम्परा में प्रकृति, भगवान के समतुल्य  हरियाली अमावस्या पर्व पर राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना की अंतरराष्ट्रीय वेब संगोष्ठी में सम्मिलित हुए देश दुनिया के विद्वान और प्रतिभागी
द्रौपदी तत्कालीन नारी अत्याचार की प्रतीक - डाॅ  जोशी
Image
वाल्मीकि समाज अधिकारी-कर्मचारी संघ जिला इकाई में नियुक्तियाँ
दौलतगंज क्षेत्र में दुकान व्यवसाईयो द्वारा कचरा खुले में फेंकने एवं डस्टबिन नहीं रखने पर निरंतर चालानी कार्यवाही की जाए - आयुक्त श्री क्षितिज सिंघल