पर्यावरण संरक्षण के प्रति सामाजिक जागरूकता अभियान।

पर्यावरण संरक्षण के प्रति सामाजिक जागरूकता अभियान।

उज्जैन! सामाजिक संस्थाओं को पौधे वितरण कर उनके  किया जा रहा जन-जागरण। पर्यावरण शब्द परी+ आवरण के सहयोग से बना है ।परी का आशय चारों ओर तथा आवरण का आशय परिवेश है। दूसरे शब्दों में कहें तो पर्यावरण का अर्थ वनस्पतियों, प्राणियों और मानव जाति सहित सभी सजीवों और उनके साथ संबंधित भौतिक परिसर को पर्यावरण कहते हैं।
पर्यावरण संरक्षण का समस्त प्राणियों के जीवन तथा इस धरती के समस्त प्राकृतिक परिवेश से घनिष्ठ संबंध है, प्रदूषण के कारण सारी पृथ्वी दूषित हो रही है।पर्यावरण संरक्षण के प्रति सामाजिक जागरूकता अभियान के तहत प्रतिदिन जन अभियान परिषद के मार्गदर्शक एवं पूर्व उपाध्यक्ष श्री प्रदीप पांडये जी,संभाग समन्वयक शिवप्रसाद मालवीय,जिला समन्वयक सचिन शिंपी,ब्लॉक समन्वयक वीरेंद्र सिंह ठाकुर, अरुण व्यास द्वारा   वितरित करके सामाजिक संस्थाओं के माध्यम से शहर में जन जागरण किया जा रहा है ।जन जागरूकता अभियान में संस्थाओं के माध्यम से नगर के चयनित स्थानों पर पौधे रोपित भी किए जा रहे हैं। आज उसी क्रम में   जनअभियान परिषद की परामर्शदाता सामाजिक कार्यकर्ता गोपाल सोनी,हर्षवर्धन सोनी और जितेंद्र शर्मा को पौधे वितरित किये गए।


Popular posts
जल की बात जलाशय पर -जल योद्धा उमा शंकर पांडे आँखों में पानी बचेगा तभी पानी बचेगा –टिल्लन रिछारिया
भारतीय चिंतन परम्परा में प्रकृति, भगवान के समतुल्य  हरियाली अमावस्या पर्व पर राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना की अंतरराष्ट्रीय वेब संगोष्ठी में सम्मिलित हुए देश दुनिया के विद्वान और प्रतिभागी
द्रौपदी तत्कालीन नारी अत्याचार की प्रतीक - डाॅ  जोशी
Image
वाल्मीकि समाज अधिकारी-कर्मचारी संघ जिला इकाई में नियुक्तियाँ
दौलतगंज क्षेत्र में दुकान व्यवसाईयो द्वारा कचरा खुले में फेंकने एवं डस्टबिन नहीं रखने पर निरंतर चालानी कार्यवाही की जाए - आयुक्त श्री क्षितिज सिंघल