पत्रकार स्वास्थ्य एवं दुर्घटना बीमा योजना की प्रीमियम राशि कम की जाए मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र
पत्रकार स्वास्थ्य एवं दुर्घटना बीमा योजना की प्रीमियम राशि कम की जाए
मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र
उज्जैन। मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ ने पत्रकार स्वास्थ्य एवं दुर्घटना बीमा योजना में पत्रकारों की प्रीमियम राशि कम करने तथा आवेदन की अंतिम तिथि 15 से बढ़ाकर 30 सितंबर तक करने की मांग करते हुए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह को पत्र लिखा है।
मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ के अध्यक्ष शलभ भदौरिया, वरिष्ठ मुख्य कार्यकारी अध्यक्ष शरद जोशी, कार्यकारी अध्यक्ष राजेन्द्र पुरोहित ने पत्र में लिखा है कि संघ के आग्रह पर राज्य शासन द्वारा विगत कई वर्षों पूर्व पत्रकारों तथा गैर पत्रकारों के लिए पत्रकार स्वास्थ्य एवं दुर्घटना बीमा योजना लागू की गई है। 2019 में प्रीमियम राशि में वृद्धि की गई थी, फिर हमारे संगठन व अन्य पत्रकारों द्वारा आग्रह किए जाने के बाद प्रीमियम राशि में वृद्धि को वापस लिया गया था, लेकिन इस बार पुन: प्रीमियम राशि में वृद्धि कर दी गई है। स्लेब के अनुसार सालाना प्रीमियम की 85 प्रतिशत राशि राज्य शासन द्वारा वहन की जाती है तथा शेष 15 प्रतिशत राशि मीडिया को भरना पड़ती है, लेकिन इस वर्ष इस प्रीमियम राशि में वृद्धि कर दी गई है।
उन्होंने बताया कि मीडिया जगत वैसे ही कोरोना महामारी के दौरान आर्थिक संकटों से जूझ रहा है, कई पत्रकारों को सेवा से हटा दिया गया है, कई की छंटनी कर दी गई है तथा कई के वेतन में कटोत्री की गई है, ऐसे में शासन तथा बीमा कंपनियों द्वारा इस वर्ष प्रीमियम राशि में की गई वृद्धि अनुचित है, जबकि कोरोना काल में पीड़ित पत्रकारों को शासन द्वारा सहायता की जानी थी और जिन लोगों का बीमा कई वर्षों से हो रहा है उनकी सारी प्रीमियम शासन को ही भरना थी, लेकिन ऐसा निर्णय न होते हुए शासन और बीमा कंपनियों द्वारा नई स्लेब के अनुसार प्रीमियम राशि मांगी गई है।
संघ ने आग्रह किया है कि अधिमान्य पत्रकारों, फोटोग्राफरों, कैमरामेनों तथा मीडियाकर्मियों की स्वास्थ्य एवं दुर्घटना बीमा योजना की प्रीमियम राशि तत्काल कम कर वर्ष 2019 के अनुसार ही रहने देने के निर्देश देने का कष्ट करें। साथ ही बीमे के लिए आवेदन फार्म भरने की अंतिम 15 सितंबर से बढ़ाकर 30 सितंबर तक करवाने का कष्ट करें। यह जानकारी जिलाध्यक्ष रामचन्द्र गिरी ने दी।

Popular posts
जल की बात जलाशय पर -जल योद्धा उमा शंकर पांडे आँखों में पानी बचेगा तभी पानी बचेगा –टिल्लन रिछारिया
भारतीय चिंतन परम्परा में प्रकृति, भगवान के समतुल्य  हरियाली अमावस्या पर्व पर राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना की अंतरराष्ट्रीय वेब संगोष्ठी में सम्मिलित हुए देश दुनिया के विद्वान और प्रतिभागी
द्रौपदी तत्कालीन नारी अत्याचार की प्रतीक - डाॅ  जोशी
Image
वाल्मीकि समाज अधिकारी-कर्मचारी संघ जिला इकाई में नियुक्तियाँ
दौलतगंज क्षेत्र में दुकान व्यवसाईयो द्वारा कचरा खुले में फेंकने एवं डस्टबिन नहीं रखने पर निरंतर चालानी कार्यवाही की जाए - आयुक्त श्री क्षितिज सिंघल